3 March 2024

बागेश्वर धाम का चिटाही धाम नहीं आयेंगे ,नही मिली जिला प्रशासन की अनुमति !

0
सोशल मीडिया में शेयर करे

बाघमारा ! बागेश्वर धाम के पीठाधिश्वर धीरेंद्र शास्त्री महाराज जी के तीन दिवसीय प्रवचन आयोजन को जिला प्रशासन की अनुमति न मिलने से स्थगित करने साथ ही कार्यक्रम के आयोजन के लिए जल्द ही न्यायालय का रुख करने की बात कही. बुधवार को बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने सर्किट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह जानकारी दी. उन्होंने बताया की श्री रामराज मंदिर ट्रस्ट चिटाही धाम द्वारा 2 दिसंबर से 4 दिसंबर तक धनबाद जिले के चिटाही धाम (मैदान) में बागेश्वर धाम के पीठाधिश्वर धीरेंद्र शास्त्री महाराज जी का तीन दिवसीय प्रवचन तय था. आम जनमानस में कार्यक्रम को लेकर उत्साह का महौल था. दुर्भाग्यवश झारखण्ड की हेमंत सरकार के इशारे पर धनबाद पुलिस एवं प्रशासन ने कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी है. इन महान धार्मिक कार्यक्रम को सरकार एवं प्रशासन के असहयोगात्मक रवैये के. कारण स्थगित करना पड़ रहा है। धार्मिक कार्यक्रम में बाधा बन हेमंत सरकार ने साबित कर दिया कि यह सरकार सनातन हिन्दु विरोधी एवं तुष्टीकरण निति की पोषक है. कार्यक्रम की पुरी तैयारी हो चुकी थी। तीन सप्ताह पहले प्रशासन से अनुमति के फरियाद के साथ आवेदन मेल एवं लिखित माध्यम से 3 नवंबर एवं इससे पूर्व भी आवेदन दिया गया था. आवेदन देने के पहले दिन से ही अधिकारियों का रवैया असहयोगात्मक रहा है, सुरक्षा का बहाना बनाकर कार्यक्रम को टालने की कोशिश कि गई है. स्थिति यह है कि कार्यक्रम की तय तिथि के करीब होने के बाद भी जिला प्रशासन की ओर से कोई सकारात्मक संकेत नहीं दिया जा रहा है. यह कार्यक्रम पुरी तरह से गैर राजनितिक एवं आमजनों के सहयोग एवं इच्छा से आयोजित करने का निर्णय लिया गया था। कार्यक्रम की भव्यता एवं सनातनों के सभांवित भारी जुटान से हेमंत सरकार डर गई है. बागेश्वार बाबा से चिटाही धाम में कार्यक्रम की अनुमति मिलने के साथ राज्य सरकार कार्यक्रम नहीं होने देने की तैयारी में जुटी हुई है.

हिन्दु विरोधी मानसिकता के कारण सरकार ने कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी

पुलिस प्रशासन के बहाने सुरक्षा सहित अन्य मुद्दो को लेकर कार्यक्रम की प्रशासनिक अनुमति को लटका दिया गया है. झारखण्ड सरकार यदि धार्मिक आयोजनों में सुरक्षा मुहैया नहीं करा सकती है तो यह शर्म की बात है. बाबा बागेश्वर कार्यक्रम को लेकर धनबाद ही नहीं आसपास के जिले सहित पुरे राज्य में चर्चा शुरू हो गई थी, लोग उत्साहित थे. धार्मिक आयोजन में शामिल होने के लिए लोग चिटाही धाम पहुँचने के लिए योजना बना रहे थे. लोगों को इस बात जानकारी नहीं थी कि, यह सरकार सनातन विरोधी एवं तुष्टीकरण राजनिति के लिए इस हद तक गिर सकती है. विरोधी सोच में हेमंत सरकार औरंगजैब से भी दो कदम सरकारी अड़गें के कारण भारी मन से बागेश्वर पीठाधिशवर धीरेन्द्र शास्त्री महराज का कार्यक्रम स्थगित करने की घोषणा करता हूँ. साथ ही पुलिस प्रशासन से माँग है कि, अनुमति नहीं दिये जाने का वजहो का खुलासा करें. सुरक्षा या कार्यक्रम स्थल का मुद्दा हो तो स्वतंत्र एजेन्सी से इसका परिक्षण हो कार्यक्रम के लिए पर्याप्त जगह उपलब्ध थी, मेरा मानना है कि सुरक्षा संबंधी कोई मुद्दा नहीं है, सिर्फ राजनितिक कारणो एवं मेरी बढ़ती राजनितिक लोकप्रियता और हिन्दु विरोधी मानसिकता के कारण सरकार ने कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी. विवश होकर कार्यक्रम को रद्य करना पड़ रहा हैं. परन्तु मैं सभी सनातनी हिन्दु भाइयों को बताना चाहता हूँ कि आप निराश मत होइए जल्द ही इस मामले को लेकर माननीय उच्च न्यायालय के शरण में जाउँगा एवं माननीय न्यायालय के आदेश के बाद आप सभी बागेश्वर बाबा का प्रवचन का श्रवण एवं उनका दर्शन का सौभाग्य प्राप्त होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *